शिक्षा

योग को स्कूली पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाएं

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने योग को स्कूली पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाएं

Yoga School Curriculumthealaskaclub.com
281

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि पहले शारीरिक गतिविधि नियमित दिनचर्या का हिस्सा होती थी. उन्होंने कहा, “वास्तव में अब कोई गतिविधि नहीं हो रही है और इसका प्रभाव यह है कि बीमारी तेजी से बढ़ रही है| मेरा निजी तौर पर मानना है कि योग को स्कूली पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाया जाना चाहिए.” उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि लोगों को अपनी जीवनशैली में सार्थक गतिविधियों का हिस्सा अपनाना होगा| उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने इसकी सिफारिश जीवनशैली से जुड़ी बीमारियों की वजह से ज्यादा संख्या में लोगों के पीड़ित होने की वजह से की| उपराष्ट्रपति ‘योग एंड माइंडफुलनेस : द बेसिक्स’ पुस्तक के विमोचन के अवसर पर बोल रहे थे| इस पुस्तक को जानी-मानी योगाचार्य मानसी गुलाटी ने लिखा है|

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि लोग विटामिन डी की कमी के लिए चिकित्सकों के पास जा रहे हैं| उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा, “हम सूरज की रौशनी में नहीं जा रहे या हम प्रकृति का आनंद नहीं ले रहे हैं|” उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि भोजन में भी सूर्य की रोशनी शामिल है|

Leave a Reply