त्यौहार

इस साल होली पर बन रहा दुर्लभ संयोग

सात साल बाद बृहस्पति के उच्च प्रभाव में गुरुवार को होली

Happy Holi Pic
509

इस साल होली पर बन रहा दुर्लभ संयोग, सात साल बाद बृहस्पति के उच्च प्रभाव में गुरुवार को होली, रंगों का त्योहार होली इस बार चैत कृष्ण प्रतिपदा गुरुवार २१ मार्च को मनेगा। २० मार्च को होलिका दहन होगा।

होलिका दहन पर इस बार दुर्लभ संयोग बन रहे हैं। इन संयोगों के बनने से कई अनिष्ट दूर होंगे। सात वर्ष के बाद देवगुरु बृहस्पति के उच्च प्रभाव में गुरुवार को होली मनेगी। इससे मान-सम्मान व पारिवारिक सुख की प्राप्ति होगी। इस बार उत्तर फाल्गुनी नक्षत्र में होली मनेगी। यह नक्षत्र सूर्य का है।

होलिका दहन इस बार पूर्वा फाल्गुन नक्षत्र में है। यह शुक्र का नक्षत्र है जो जीवन में उत्सव, हर्ष, आमोद-प्रमोद, ऐश्वर्य का प्रतीक है। होलिका दहन में जौ और गेहूं के पौधे डालते हैं। होलिका दहन के अगले दिन रंगवाली होली खेली जाती है जिसे श्री राधा-कृष्ण के पवित्र प्रेम की याद में भी मनाया जाता है।

बहुत से लोग होली के दिन ही अपनी पुरानी दुश्मनी भुलाकर दोस्तों को होली मुबारक करते हैं। सांस्कृतिक रूप से होली ऐसा पर्व है जिसे मनाने वालों में कोई भिन्नता नहीं होती सभी एक ही रंग में रंगे एक दूसरे के साथ ख़ुशी के इस पर्व का आनंद उठाते हैं। लेकिन सांस्कृतिक महत्व होने के साथ-साथ होली का धार्मिक रूप से भी बहुत अधिक महत्व है।

Leave a Reply