त्यौहार

राम नवमी २०१९

राम नवमी कब मनाई जाएगी

Jai Shri Ram
534

राम नवमी २०१९, राम नवमी कब मनाई जाएगी, २०१९ में नवमी तिथि १३ अप्रैल की सुबह ८:१९ बजे से १४ अप्रैल की सुबह ६:०४ बजे तक है। इसलिए 13 अप्रैल दिन शनिवार को महानवमी का व्रत होगा। इस बार राम नवमी पुष्य नक्षत्र के योग में है। पुष्य नक्षत्र सभी २७ नक्षत्रों में सबसे सर्वश्रेष्ठ नक्षत्र माना गया है। भगवान राम का जन्म पुष्य नक्षत्र में हुआ था।

इस दिन भगवान विष्णु के ७ वें अवतार भगवान राम जन्मदिन मनाया जाता है। इस दिन भगवान राम की पूजा तो होती ही साथ ही भाई लक्ष्मण और मां सीता के साथ हनुमान जी की भी पूजा की जाती है। आमतौर पर हिंदू धर्म में नवरात्रि का विशेष महत्व है।

आपको बता दें कि रामनवमी शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा को मनायी जाती है और इस विशेष दिन मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम की विधि विधान से पूजा की जाती है। राम के जन्म का पर्व रामनवमी पूरे भारत में काफी श्रद्धा और हर्षोल्लास के साथ मनायी जाती है। इस दिन भगवान राम के भक्त उपवास रखकर उनका गुणगान करते हैं।

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार अयोध्या के राजा दशरथ की तीन रानियां थीं। लेकिन तीनों रानियों में से किसी को पुत्र की प्राप्ति नहीं हुई थी। तब ऋषि मुनियों  से सलाह लेकर राजा दशरथ ने पुत्रेष्टि यज्ञ करवाया। इस यज्ञ से निकली खीर को राजा दशरथ ने अपनी बड़ी रानी कौशल्या को खिलाया। इसके बाद चैत्र शुक्ल नवमी को पुनरसु नक्षत्र एवं कर्क लग्न में माता कौशल्या की कोख से भगवान श्री राम का जन्म हुआ। तब से यह तिथि राम नवमी के रूप में मनायी जाती है।

रामरक्षा स्तोत्र, राम नवमी व्रत, रामनवमी की कथा, राम नवमी पूजा विधि, रामचरित मानस की चौपाई, राम नवमी निबंध, श्री राम जी की आरती, राम नवमी वॉलपेपर, राम नवमी चित्र, राम नवमी फोटो, राम नवमी छवि

Leave a Reply