धर्म

तुलसी जी पर जल चढ़ाते समय बोले ये मंत्र

आपका घर धन-धान्य से भर जाएगा

Tulsi
370

मान्यता है कि घर में तुलसी का पौधा लगाने से सकारात्मकता उर्जा आती है। इसलिए तुलसी जी पर जल चढ़ाना शुभ माना जाता है| धार्मिक ग्रंथों के अनुसार अगर तुलसी जी पर जल चढ़ाते समय ‘ॐ-ॐ’ मंत्र का ११ या २१ बार जाप किया जाए तो बुरी नजर से बचा जा सकता है।

तुलसी का पत्ता तोड़ते समय ॐ सुभद्राय नम:, मातस्तुलसि गोविन्द हृदयानन्द कारिणी,नारायणस्य पूजार्थं चिनोमि त्वां नमोस्तुते।। मंत्र का जाप करें। और अगर तुलसी के पत्ते तोड़ते समय ॐ सुप्रभाय नमः मंत्र का जाप किया जाए तो दोष नहीं लगता है।

जीवन में सफलता पाने के लिए महाप्रसाद जननी, सर्व सौभाग्यवर्धिनी, आधि व्याधि हरा नित्यं, तुलसी त्वं नमोस्तुते।। मंत्र का जाप करें। धन प्राप्ति के लिए मातस्तुलसि गोविन्द हृदयानन्द कारिणी, नारायणस्य पूजार्थं चिनोमि त्वां नमोस्तुते ।। मंत्र का जाप करें।

तुलसी पर जल चढ़ाते समय उनके आठ नाम यानि पुष्पसारा, नन्दिनी, वृंदा, वृंदावनी, विश्वपूजिता, विश्वपावनी, तुलसी और कृष्ण जीवनी, लिए जाए तो व्यक्ति सारे कष्ट दूर हो जाते हैं। तुलसी जी की पूजा करते समय शुद्ध देसी घी का दीपक अवश्य जलाएं।

भगवान विष्णु को तुलसी दल चढ़ाते समय इसमें चंदन लगाएं, इससे विष्णु जी प्रसन्न होंगे। अगर किसी को नजर लग गई हो तो उसके सिर से लेकर पाँव तक ७ तुलसी के पत्ते और ७ कालीमिर्च के दाने लेकर २१ बार उतार लें।

भगवान विष्णु को तुलसी के पत्ते विशेष प्रिय हैं, इसलिए इनकी पूजा में तुलसी के पत्ते का बहुत महत्व है। सभी मंदिरों में भगवान को चढ़ाया गया तुलसी पत्र बाद में प्रसाद के रूप में भक्तों को दिया जाता है।

Leave a Reply