त्यौहार

महाशिवरात्रि २०१९

शिवरात्रि २०१९

Shivji
764

इस साल महाशिवरात्रि ४ मार्च २०१९ को सांय ४ बजकर २८ मिनट से आरंभ होगा। महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव के भक्तों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण दिन होता है। इस दिन श्रद्धालु भगवान शिव की अराधना करते हैं ताकि उनकी मनोकामना पूर्ण हो सके। इस दिन देशभर के शिव मंदिरों में भक्तों का तांता लगा होता है। भक्त इस दिन भगवान शिव को फल-फूल और दूध व जल चढ़ाते हैं।

कई लोग इस खास मौके पर रूद्राभिषेक का भी आयोजन करते हैं। ऐसा माना जाता है कि इस दिन किया गया रूद्राभिषेक काफी फलित होता है। आइए जानते हैं इस बार किस दिन महाशिवरात्रि है और पूजा का मूहर्त कब है। इस दिन शिव भक्तों के लिए खास बात यह है कि इस दिन सोमवार है जो कि भगवान शिव का ही दिन माना जाता है।

इसके अलावा महाशिवरात्रि का व्रत नक्षत्र के हिसाब से मंगलवार ५ मार्च २०१९ को रखा जाएगा। इस बार महाशिवरात्रि पर अद्भुत संयोग बन रहा है। हिंदू धर्म के अनुसार भगवान शिव पर पूजा करते वक्त बिल्वपत्र, शहद, दूध, दही, शक्कर और गंगाजल से अभिषेक करना चाहिए। ऐसा करने से आपकी सारी समस्याएं दूर होंगी साथ ही मांगी हुई मुराद भी पूरी होगी।

एक वर्ष में एक महाशिवरात्रि और ११ शिवरात्रियां पड़ती हैं, जिन्हें मासिक शिवरात्रि के रूप में मनाया जाता है। शास्त्रों के अनुसार देवी सरस्वती, लक्ष्मी, पार्वती, सीता और गायत्री देवी ने भी मासिक शिवरात्रियों का व्रत किया था और शिव कृपा से अनंत फल प्राप्त किया था। इस दिन शिव की पूजा विधि विधान से करें। शिव जी पर एक लोटा जल चढ़ाने से ही भगवान इंसान की मुराद पूरी कर देता है।

द्वादश ज्योतिर्लिंग, शिव महिम्न स्तोत्रम्, शिवाष्टक स्तोत्र, शिव तांडव स्तोत्र, शिव रुद्राष्टक, शिव प्रदोष स्तोत्र, शिव पंचाक्षर स्तोत्र, शिव नामावली, शिव मंत्र, शिव चालीसा, शिव आरती, महाशिवरात्रि व्रत, महाशिवरात्रि पर यह सामग्री अवश्य चढ़ाएं, महाशिवरात्रि पूजा, महाशिवरात्रि पर्व, महाशिवरात्रि का महत्व, महाशिवरात्रि कथा, महाशिवरात्रि पर क्या करें भोजन, महाशिवरात्रि पर महादेव को कैसे प्रसन्न करे, बिल्वपत्र मंत्रमहाशिवरात्रि कोट्स, महाशिवरात्रि मेसेज, महाशिवरात्रि स्टेट्स, महाशिवरात्रि एसएसएम, महाशिवरात्रि की शायरी, महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनायें, हैप्पी महाशिवरात्री, महाशिवरात्रि की शुभकामनायें, महाशिवरात्री बधाई

Leave a Reply