त्यौहार

होली शायरी

होलिका दहन शायरी

Holi HD Images
641

होली शायरी, होलिका दहन शायरी, होली का पर्व साल में आने वाले सबसे बड़े त्योहारों में से एक है जिसे केवल भारत में ही नहीं बल्कि दूर देशों में भी बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है। क्या बच्चे, क्या बड़े, क्या महिलाएं और क्या पुरुष सभी इस पर्व का भरपूर आनंद उठाते हैं। इसीलिए तो इसे आनंद और उल्लास का पर्व भी कहा जाता है। लाल, पीले, हरे, गुलाबी आदि रंगों से रंगे गाल माहौल को और खुशनुमा बना देते है।

बहुत से लोग होली के दिन ही अपनी पुरानी दुश्मनी भुलाकर दोस्तों को होली मुबारक करते हैं। सांस्कृतिक रूप से होली ऐसा पर्व है जिसे मनाने वालों में कोई भिन्नता नहीं होती सभी एक ही रंग में रंगे एक दूसरे के साथ ख़ुशी के इस पर्व का आनंद उठाते हैं। लेकिन सांस्कृतिक महत्व होने के साथ-साथ होली का धार्मिक रूप से भी बहुत अधिक महत्व है।


कुछ रंग बिखरे हैं अल्फाज़ो में,

कुछ रंग उड़ रहे एहसासो में,

हर रंग आज छू कर तुम्हे…,

घुल के समां रहे हैं मेरी सांसों में

होली मुबारक हो मेरी जान


इन रंगो से भी सुन्दर हो ज़िन्दगी आपकी,

हमेशा महकती रहे यही दुआ हैं हमारी,

कभी न बिगड़ पाए ये रिश्तो के प्यार की होली

ए-मेरे यार आप सबको मुबारक हो ये होली


सपनो की दुनिया और अपनों का प्यार

गालों पे गुलाल और पानी की बौछार,

सुख समृद्धि और सफलता का हार,

मुबारक हो आपको रंगो का त्यौहार,

होली मुबारक


दारु की खुशबू, बियर की मिठास,

गांजे की रोटी, चरस का साग,

भांग के पकोड़े और विल्स का प्यार,

लो आ गया फिर नशेड़ियों का त्यौहार


गलियों में निकलो बना के टोली

हर लड़की की भीगा दो चोली

जो मुस्कुराये उसे बाहों में भर लो

वरना रंग लगाओ और कह दो हैप्पी होली

Leave a Reply