त्यौहार

महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनायें

शिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनायें

Shankar
480

महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनायें, शिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनायें, शिव भक्तों के लिए महाशिवरात्री और सावन की शिवरात्री दोनों ही बहुत खास होते है| महाशिवरात्रि के दिन लोग भगवान शिव की आराधना करते हैं। उन्हें प्रसन्न करने के लिए व्रत रखते हैं, बेलपत्र और जल चढ़ाते हैं। लोग शिवरात्रि की बधाई भी देते हैं| महाशिवरात्रि के दिन लोग भगवान शिव की आराधना करते हैं। उन्हें प्रसन्न करने के लिए व्रत रखते हैं, बेलपत्र और जल चढ़ाते हैं। लोग शिवरात्रि की बधाई भी देते हैं|

समुद्र मंथन के दौरान निकले विष को भगवान शिव ने पी लिया था| जिसके परिणामस्वरूप वह विष की नकारात्मक ऊर्जा से पीड़ित हो गए| त्रेता युग में रावण ने शिव का ध्यान किया और वह कांवड़ का इस्तेमाल कर गंगा के पवित्र जल को लेकर आए| इस गंगाजल को भगवान शिव पर अर्पित किया और इस तरह उनकी नकारात्मक ऊर्जा दूर हुई. इसी के चलते सावन में शिवरात्री का बड़ा महत्व माना जाता है|

महाशिवरात्रि के दिन लोग भगवान शिव की आराधना करते हैं। उन्हें प्रसन्न करने के लिए व्रत रखते हैं, बेलपत्र और जल चढ़ाते हैं। लोग शिवरात्रि की बधाई भी देते हैं|

शिव की बनी रहे आप पर छाए

पलट दे जो आपकी किस्मत की काया

मिले आपको वो सब इस अपनी ज़िन्दगी में

जो कभी किसी ने भी ना पाया !

शिवरात्रि की ढेरों बधाई


भोले आयें आपके द्वार

भर दें जीवन में खुशियों की बहार

ना रहे जीवन में कोई भी दुःख

हर ओर फ़ैल जाये सुख ही सुख


कहते है सांस लेने से जान आती है,

सांस ना लो तो जान जाती है,

कैसे कह दुं कि मै सांसों के सहारे जिन्दा हुं,

मेरी सांस तो ॐ नम: शिवाये: बोलने के बाद आती है.


शिव सत्य है, शिव अनंत है,

शिव अनादि है, शिव भगवंत है,

शिव ओंकार है, शिव ब्रह्म है,

शिव शक्ति है, शिव भक्ति है.


महाकाल का नारा लगा के

दुनिया में हम छा गये

दुश्मन भी छुपकर बोले वो

देखो महाकाल के भक्त आ गये

Leave a Reply