त्यौहार

बजरंग बली की उपासना

हनुमान जयंती उपासना

Hanuman Photo
84

बजरंग बली की उपासना, हनुमान जयंती उपासना, हनुमान को बल, बुद्धि, विद्या, शौर्य और निर्भयता का प्रतीक माना जाता है। संकटकाल में हनुमानजी का ही स्मरण किया जाता है। वह संकटमोचन कहलाते हैं।

इन्हें बजरंगबली के रूप में जाना जाता है क्योंकि इनका शरीर एक वज्र की तरह था। वे पवन-पुत्र के रूप में जाने जाते हैं। हिँदू महाकाव्य रामायण के अनुसार, हनुमान जी को वानर के मुख वाले अत्यंत बलिष्ठ पुरुष के रूप में दिखाया जाता है।

हनुमान जयंती के दिन श्री हनुमान यंत्र को सिद्ध कर लाल धागे में धारण करें, बाद में हर मंगलवार इसका विधिवत पूजन करें।

मंगलवार, शनिवार या हनुमान जयंती के दिन सूर्योदय के समय नहाकर श्री हनुमते नमः मंत्र का जप करें।

मंगलवार, शनिवार या हनुमान जयंती की सुबह तांबे के लोटे में जल व सिंदूर मिश्रित कर श्री हनुमानजी को अर्पित करें।

चमेली के तेल में सिंदूर मिलाकर श्री हनुमान को अर्पित करें। यह उपाय हनुमान जयंती के दिन व मंगलवार के दिन करने से शीघ्र सफलता मिलती है।

Leave a Reply