शहर

चित्रकूट के अगवा हुए जुड़वां भाइयों की हत्या

जुड़वां भाइयों की २० लाख रु. फिरौती मांगी थी

Shreyash Priyash
621

चित्रकूट के अगवा हुए जुड़वां भाइयों की हत्या, जुड़वां भाइयों की २० लाख रु. फिरौती मांगी थी, जुड़वां भाइयों श्रेयांश और प्रियांश| मध्यप्रदेश में सतना जिले के चित्रकूट से १२ फरवरी को अगवा किए गए जुड़वां भाइयों श्रेयांश और प्रियांश की हत्या कर दी गई। हाथ-पैर बंधे दोनों बच्चों के शव उत्तरप्रदेश के बांदा में यमुना नदी से शनिवार देर रात बरामद किए गए।

बच्चों का हत्या की खबर के बाद चित्रकूट में तनाव का माहौल है। उग्र लोगों ने कई जगहों पर तोड़फोड़ और उपद्रव किया। यहां धारा १४४ लगा दी गई है। जानकी कुंड इलाके में लोगों ने जाम लगाकर पुलिस और सद्गुरु सेवा ट्रस्ट के खिलाफ नारेबाजी की।

रीवा जोन के आईजी चंचल शेखर ने बताया कि बच्चों के अपहरण और हत्या का मुख्य आरोपी पद्म शुक्ला सहित छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पद्म, बजरंगदल के संयोजक विष्णुकांत शुक्ला का भाई है। चंचल शेखर ने बताया कि आरोपियों ने एक बार इंटरनेट कॉलिंग के जरिए बच्चों की पिता से बात करवाई थी। अपहरण के दो दिन बाद ही आरोपियों ने राह चलते लोगों से फोन मांगकर बच्चों के पिता को फोन किया और उनसे दो करोड़ रुपए फिरौती की रकम मांगी थी।

मृत बच्चों की उम्र छह साल थी। उनका घर उत्तरप्रदेश के चित्रकूट धाम के रामघाट में था। बच्चों के पिता बृजेश रावत तेल व्यवसायी हैं। दोनों बच्चे चित्रकूट मध्यप्रदेश के सद्गुरु पब्लिक स्कूल में पढ़ते थे।

Leave a Reply