विज्ञानं

चंद्रयान-२ का प्रक्षेपण सफल

चांद की ओर ऐतिहासिक यात्रा की शुरुआत

Chandrayaan 2
227

चंद्रयान-२ का प्रक्षेपण सफल, चांद की ओर ऐतिहासिक यात्रा की शुरुआत, अंतरिक्ष की कक्षा में पहुंचा, देशभर में खुशी की लहर| चांद पर भारत के दूसरे महत्वाकांक्षी मिशन चंद्रयान-२ को सोमवार को श्रीहरिकोटा से सबसे शक्तिशाली रॉकेट जीएसएलवी मार्क-३ एम1 के जरिए प्रक्षेपित किया गया| भारत के लिए आज बेहद खास दिन है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने चंद्रयान-२ को लॉन्च कर इतिहास रच दिया है।

चंद्रयान-२ को लेकर ‘बाहुबली’ रॉकेट जीएसएलवी मार्क-३ दोपहर २:४३ मिनट पर सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से रवाना हुआ। रॉकेट ने चंद्रयान-२ को अंतरिक्ष की कक्षा में पहुंचा दिया है। चंद्रयान-२ की लॉन्चिंग को लेकर सतीश धवन स्पेस सेंटर में मौजूद वैज्ञानिकों में खुशी की लहर है। इस मिशन की लागत ९७८ करोड़ रुपये है| एक सप्ताह पहले तकनीकी गड़बड़ी आने के बाद चंद्रयान-२ का प्रक्षेपण रोक दिया गया था|

इससे पहले इसरो ने शनिवार को चंद्रयान-२ की लॉन्च रिहर्सल पूरी की थी। इसरो ने गुरुवार को ट्वीट किया था कि चंद्रयान-२ की लॉन्चिंग १५ जुलाई की रात २:५१ बजे होनी थी, जो तकनीकी खराबी के कारण टाल दी गई थी। इसरो ने एक हफ्ते के अंदर सभी तकनीकी खामियों को ठीक कर लिया है।

चंद्रयान-२ की खास बाते

भारत के सबसे ताकतवर रॉकेट जीएसएलवी एमके-३ से लॉन्च हुआ

इसमे ऑर्बिटर, लैंडर (विक्रम) और रोवर (प्रज्ञान) शामिल

लॉन्च के १८ दिन बाद यान चंद्रमा की सतह पर पहुंचेगा

इस यान का वजन 3,877 किलो

चांद पर तय तारीख 7 सितंबर को ही पहुंचेगा

यह लैंडिंग चांद के दक्षिणी ध्रुव पर होगी

लैंडर-रोवर को 15 दिन काम करना है

Leave a Reply