देश

बजट में क्या हुआ सस्ता और क्या महंगा

अमीर, मध्ययम वर्ग, गरीब, गांव और महिलाओ के लिए कैसा है बजट

Budget 2019
227

बजट में क्‍या हुआ सस्‍ता और क्‍या महंगा, अमीर, मध्‍यम वर्ग, गरीब, गांव और महिलाओ के लिए कैसा है बजट, किसानों को क्या मिला| केन्द्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमरण शुक्रवार को केन्द्रीय बजट पेश किया। बजट २०१९ में गांव, गरीब, किसान और युवाओं का पूरा ध्यान रखा है. हालांकि टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया है|

सरकार ने ११४ दिनों में जरूरतमंदों को घर बनाकर देने का लक्ष्‍य रखा है। इस योजना के तहत १.९५ करोड़ घर बनाने का लक्ष्य रखा गया है। खास बात यह है कि पिएसयु कंपनियों की जमीनों पर भी मकान बनाएगी सरकार। इसी तरह विदेशी निवेश बढ़ाने के लिए मीडिया में बढ़ेगी विदेश निवेश (एफडीआई) की सीमा। बीमा में १०० फीसदी होगा निवेश। सिंगल ब्रांड रिटेल में विदेशी निवेश की सीमा बढ़ाएगी सरकार।

बजट में महत्वपूर्ण घोषणा

इसके अलावा, सोने और बेशकीमती धातुओं पर सीमा शुल्क १० फीसदी से बढ़ाकर १२.५ फीसदी कर दी गई है। जिसके बाद अब ये उत्पाद महंगे हो जाएंगे। देश में नहीं बनने वाले रक्षा उत्पाद सीमा शुल्क से मुक्त रहेंगे।

जबकि, ४५ लाख रुपए तक के हाउसिंग लोन के ब्याज पर छूट २ लाख से बढ़ाकर ३.५ लाख रुपए कर दी गई है। इससे मध्यम वर्ग को इनकम टैक्स में फायदा होगा। दूसरी ओर मध्यम वर्ग को आयकर में कोई छूट नहीं दी गई है। सरकार ने धनाढ्‍य वर्ग पर टैक्स बढ़ाने की घोषणा की है।

नरेन्द्र मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के पहले ही साल में छोटे दुकानदारों एवं कारोबारियों को पेंशन सुविधा के लाभ की घोषणा की है. डेढ़ करोड़ से कम के सालाना कारोबार वाले तीन करोड़ छोटे दुकानदार एवं कारोबारी इस सुविधा का लाभ उठा सकेंगे. ४५ लाख तक के होम लोन पर ३.५ लाख तक की छूट और ५ लाख से कम सालाना आय वालों को कोई टैक्स नहीं देना होगा.

बजटमें क्या हुआ सस्‍ता

२०१९ के आम बजट में इलेक्ट्रिक गाड़ियों को बढ़ावा देने के लिए बड़ी घोषणाएं की हैं। बजट में इलेक्ट्रिक गाड़ियों पर जीएसटी रेट १२ प्रतिशत से घटाकर ५ प्रतिशत कर दिया गया। इसके अलावा, इलेक्ट्रिक गाड़ियां खरीदने की खातिर लिए गए लोन पर चुकाए जाने वाले ब्याज पर १.५ लाख रुपये की अतिरिक्त इनकम टैक्स छूट (एडिशनल इनकम टैक्स डिडक्शन) भी मिलेगी। सरकार इस कदम से इलेक्ट्रिक गाड़ियों को लोगों के लिए किफायती बनाना चाहती है।

बजटमें क्या हुआ महंगा

निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करते हुए बताया कि सोना पर शुल्क बढ़ाकर १० फीसद से बढ़ाकर १२.५ फीसदी कर दिया गया है। उन्‍होंने कहा कि तंबाकू पर भी अतिरिक्त शुल्क लगाया जाएगा। पेट्रोल-डीजल पर १-१ रुपये का अतिरिक्त सेस लगाया जाएगा। आयातित किताबों पर ५% कस्टम ड्यूटी बढ़ाई गई है। सीसीटीवी, पीवीसी और मार्बल पर भी कस्टम ड्यूटी बढ़ गई है।

Leave a Reply