त्यौहार

वसंत पंचमी २०२०

वसंत पंचमी माघ माह के शुक्ल पक्ष में मनाई जाती है। इस बार यह तिथि २९ जनवरी, बुधवार को पड़ रही है।

Basant PanchamiBasant Panchami
106

वसंत पंचमी माघ माह के शुक्ल पक्ष में मनाई जाती है। इस बार यह तिथि २९ जनवरी, बुधवार को पड़ रही है। इस दिन से वसंत ऋतु का आरंभ माना जाता है। वसंत पंचमी को शुभ दिन माना जाता है और किसी भी अच्छे कार्य की शुरुआत बिना किसी मुहूर्त की जा सकती है।

वसंत पंचमी पूजा

२९ जनवरी २०२० बुधवार को सुबह १०:४७:३८ से दोपहर १२:३४:२३ बजे तक

वसंत पंचमी पूजा मुहूर्त

सुबह १०:४५ से १२:३४ दोपहर

अवधि : १ घंटा ४९ मिनट्स

वसन्त पंचमी मध्याह्न का क्षण

दोपहर १२:३४ बजे

पूजा की विधि बसंत पंचमी के मौके पर लोग पीले रंग के कपड़े पहनते हैं| हिंदू पंचांग के मुताबिक, पंचमी तिथि सूर्योदय और दोपहर के बीच रहती है| बसंत पंचमी पर मां सरस्वती पूजा करते समय सरस्वती चालीसा का पाठ जरूर करना चाहिए| मान्यता है कि इस दिन गृह प्रवेश, वाहन खरीदना,नींव पूजन, नया व्यापार प्रारंभ जैसे मांगलिक कामों की शुरुआत करने पर शुभ फल मिलता है|

मां सरस्‍वती का मंत्र

मां सरस्वती की आराधना करते वक्‍त इस श्‍लोक का उच्‍चारण करना चाहिए:

ॐ श्री सरस्वती शुक्लवर्णां सस्मितां सुमनोहराम्।।

कोटिचंद्रप्रभामुष्टपुष्टश्रीयुक्तविग्रहाम्।

वह्निशुद्धां शुकाधानां वीणापुस्तकमधारिणीम्।।

रत्नसारेन्द्रनिर्माणनवभूषणभूषिताम्।

सुपूजितां सुरगणैब्रह्मविष्णुशिवादिभि:।।वन्दे भक्तया वन्दिता च

सरस्‍वती वंदना

या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता

या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना।

या ब्रह्माच्युत शंकरप्रभृतिभिर्देवैः सदा वन्दिता

सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा॥१||

शुक्लां ब्रह्मविचार सार परमामाद्यां जगद्व्यापिनीं

वीणा-पुस्तक-धारिणीमभयदां जाड्यान्धकारापहाम्‌।

हस्ते स्फटिकमालिकां विदधतीं पद्मासने संस्थिताम्‌

वन्दे तां परमेश्वरीं भगवतीं बुद्धिप्रदां शारदाम्‌॥२॥

Leave a Reply